Posts

Showing posts from September 5, 2018

इस अदा से गूँजता है नारा ए रिन्दाना आज

इसअदासेगूँजताहैनारारिन्दानाआज वज्दमेंआयाहैसाक़ी, झूमउठामैख़ानाआज
चूमलेतीहैलपककरशमअकीलौबारहा मौतकेआहंगपररक़्साँहैफिर

रात -दिन , सा'अत ओ लम्हात बदल जाते हैं

रात -दिन , सा'अतओलम्हातबदलजातेहैं शहरतोशहरख़राबातबदलजातेहैं
हमनेदेखेहैंकईऐसेअदाकारमियां ताड़कररुख़जोहरइकबातबदलजातेहैं
बातक्याकीजियेइन्सां