Posts

Showing posts from January 1, 2019

हर ख़ुशी आधी अधूरी, ख़्वाब हर झूठा दिया

हरख़ुशीआधीअधूरी,ख़्वाबहरझूठादिया सोचतीहूँ,मुझकोमेरीज़िन्दगीनेक्यादिया
ख़्वाबदिखलाकरसराबोंतकमुझेफिरलेगई ज़िन्दगीनेवरगलाकरमुझकोफिरधोकादिया
थीजुनूँकीइन्तेहा,तोफिरयेसबहोनाहीथा शौक़सेजोथाबनाया,आजवोघरढादिया
रौशनीहैतेज़इतनी,कुछनज़रआतानहीं येकहाँमुझकोजूनून-ए-शौक़नेपहुंचादिया
दिलकेइकइकज़ख्मकोखुरचाहैउसकेसामने ख़ूबमैंनेभीजफ़ाओंकाउसेबदलादिया