Posts

Showing posts from January 4, 2019

कर्ब ए नारसाई

मोहब्बतबढ़तीजातीहै अज़ीअतबढ़तीजातीहै
अभीतकतो मेरीआँखोंमें तेराअक्सउतराथा अभीतक मेरीमहसूसातका येदिलही क़ैदीथा लहूरौशनथा रगरगका अभीतक लम्सकीज़ौसे अभी जज़्बा तेरीबेसाख्ताजुरअतका आदीथा मगरअब रफ़्तारफ़्ता