Har taraf shor hai har taraf hai fughaan

Comments

Popular posts from this blog

फ़र्श था मख़मल का, लेकिन तीलियाँ फ़ौलाद की

ज़ालिम के दिल को भी शाद नहीं करते

सांस्कृतिक प्रदूषण